Everybody in Indian Hindi Blog News Aggregator network

12
0
tmp0dd82a779cd7d493fa83f39f46c9055e.jpg Love Gupta

दिया और बाती हम

ज़िंदगी से जंगमाँ के पेट में थे हर आफ़त से महफूज़ ,मकानों में क्या रहने लगे निकल भागना पड़ता है ॥~~~कैस़मेरी माँ को हमेशा मौत का डर लगा रहता है, उन्होंने अपने पिता को जल्दी खो दिया था । जब भी कोई मौत ..  read more
Mehfil-e-Qais · Comment · 26 min ago via RSS
15
0
suresh swapnil

मैं क्या बोलूं ?

क़ह्र  से  हुक्मरां  ख़ुश  हैं,  मैं  क्या  बोलूंपरस्तारे-ख़िज़ां  ख़ुश   हैं,  मैं  क्या बोलूंलगा  कर  दाग़  मुझ  पर  बुतपरस्ती  काअगर  वो  मेह्रबां  ख़ुश  हैं,  मैं  क्या  बोलूंअभी  भी    शाह  से    उम्मी..  read more
13
0
tmpff563d30b35054fd6e91b16a79a3f8b2.jpg डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"

गीत "कौन सुनेगा सरगम के सुर" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

मीठे सुर में गाकर कोयल, क्यों तुम समय गँवाती हो?कौन सुनेगा सरगम के सुर, किसको गीत सुनाती हो?बाज और बगुलों ने सारे, घेर लिए हैं बाग अभी,खारे सागर के पानी में, नहीं गलेगी दाल कभी,पेड़ों की झु..  read more
16
0
tmpe1d0587a42921dbf007d4fc45d576bad.jpg harminder singh

सदियों पहले की बातें

भूलना बातों को किसी तह में छिपा देता है, यादों को दबा देता है। समय की परत मोटी होती जाती है। कहते हैं कि यादें धुंधली पड़ जाती हैं। दूर किसी कोने से फीकी रोशनी के फर्श पर पड़ने से अक्षरों में चमक नहीं ..  read more
17
0
tmp2c6be39db100b13473f57c1396e080b3.JPG Anant Vijay

बिहार के साहित्यिक हकीम

मशहूर व्यंग्यकार और हिंदी साहित्य जगत के अपने तरह के अनूठे रचनाकार हरिशंकर परसाईं ने साहित्य और नंबर दो का कारोबार में लिखा है – ‘मैं भी सांस्कृतिक क्रांति के दौर से गुजर लिया । पहले अपना कमाया पैसा ..  read more
15
0
MadhepuraTimes

फिर कांपी धरती: मधेपुरा में सुरक्षित जेल की दीवार, स्कूल अगले दो दिनों तक बंद

मधेपुरा में आज फिर धरती कांपी और लोगों में फिर से कल जैसा भय व्याप्त हो गया. दिन के  करीब 12:39 बजे करीब एक मिनट के के लिए फिर धरती डोली तो लोग फिर घरों से बाहर निकल गए. दहशत का माहौल अबतक है.      प..  read more
14
0
Digambar Nasava

कुछ तस्वीरें ...

इंसान की खुद पे पाबंदी कभी कामयाब नहीं होती ... कभी कभी तो तोड़ने की जिद्द इतनी हावी हो जाती है की पता नहीं चलता कौन टूटा ... सपना, कांच या जिंदगी ... फुसरत के लम्हे आसानी से नही मिलते ... खुद से करने..  read more
16
0
tmp97729e17e658871dbced0bd3b960fd87.jpg MADHAVI RANJANA

गीत गाया पत्थरों ने - अजंता

यहां पत्थरों में सुनाई देता है संगीत। अनवरत संगीत। प्राणों को झंकृत कर देने वाला संगीत। जो अन्यत्र दुर्लभ है। सैकड़ो साल हजारों कलाकारों की अनवरत तपस्या की परिणति है अजंता की गुफाएं। यहां पत्थरों से ..  read more
16
0
Sanjay Grover

सोडा

लघुकथालगता था उसकी बाइक में ब्रेक ही नहीं हैं।पहली रेडलाइट वह बिना सिगनल की परवाह किए क्रॉस कर गया।दूसरी पर दो बार तथाकथित राष्ट्रपिता को क़ुर्बान किया।फ़िर तीसरी, चौथी, पांचवीं.......पर इसबार उससे पहल..  read more
16
0
Rajeev Ranjan Prasad

एक शोधार्थी पत्रकार के नोट्स

कल सुबह यह स्टोरी पूरी की, तो दिमाग में कनहर में किसानों पर पुलिसया कार्रवाई की बर्बर घटना थी, मुझे क्या पता था कि दोपहर तक विनाश का नया मंजर आने वाला है। भूकम्प से पूरी दुनिया हिली, तो लोगों का बुरा..  read more
इस बार · Comment · 7 hours ago via RSS
21
0
tmpc8fd3d58582ab8a7584f9173612f97d4.jpg suresh

What is the Mystery of Oregon Sriyantra

अमेरिका के ओरेगॉन का रहस्यमयी श्रीयंत्र इडाहो एयर नेशनल गार्ड का पायलट बिल मिलर 10 अगस्त 1990 को अपनी नियमित प्रशिक्षण उड़ान पर था. अचानक उसने ओरेगॉन प्रांत की एक सूखी हुई झील की रेत पर कोई विचित्र आ..  read more
19
0
tmpc1971f43b335a50c87c0720b275a57d9.jpg firdaus

मेरी रूह महक रही है, तुम्हारी मुहब्बत से...

मेरे महबूब...मुहब्बत के शहर कीज़मीं का वो टुकड़ाआज भी यादों की ख़ुशबू से महक रहा हैजहांमैंने सुर्ख़ गुलाबों कीमहकती पंखुड़ियों कोतुम्हारे क़दमों में बिछाया था...तुमने कहा था-यह फूल क़दमों में बिछाने ..  read more
Firdaus Diary · Comment · 7 hours ago via RSS
22
0
tmp40e061b9fcfa8d9b42045115dab5b61f.jpg firdaus

क़ैंची...

फ़िरदौस ख़ानबहुत साल पहले की बात है... हमारे पड़ौस में एक आंटी रहती थी... वो स्कूल में चपरासी की नौकरी करती थीं... उनकी एक आदत थी... आए-दिन कुछ न कुछ मांगती रहती थी... कभी कहतीं चीनी ख़त्म हो गई, कभी चाय..  read more
Firdaus Diary · Comment · 8 hours ago via RSS
Pages: 1 2 3 4 5

New Members

Rosaria Pietrzak Lon Lockhart Charlotte Passmore gyan vigyan brhamgyan rambilas garg xiongqingwu hariomrastogi Sanjay Grover संजय ग्रोवर uma Manu Kaushik

Recently active tags

Latest Blogs

Most Followed Members

Most Posting Members

Blogprahari is India's leading blog aggregator service since 2009. We present to you a blend of couple of services equiped togther to help blog writers. Login to use micro-blogging service like twitter, add you blog/website RSS feed and make friends or socialize with thousands of bloggers round the globe. We feature a Blog Directory, Blog Ranking, Bloggers' Directory, Micro Blog, Articles Section, Social Network and a money making programme for Bloggers, making blogprahari, the first of its kind platform.

Indian Hindi Blog News Aggregator · About Blogprahari · Mobile Version · Donate · Advertise · Privacy Policy · Disclaimers · DMCA · Contacts
Powered by Blog tronx